जिस काम पर मां ने बंद कर दी थी बात, उसी से बेटी ने खड़ा किया बिजनेस

success-story-of-antiyesthi-funeral-service-ceo-shruti-reddy-news-hindi
नई दिल्ली.श्रुति रेड्डी पेशे से एक सॉफ्टवेयर डेवलपर थी लेकिन अब वह रोजाना श्मशान घाट के चक्कर लगा रही है। इतना ही नहीं श्मशान घाट को ही अपना प्रोफेशन बना लिया है। दरअसल हेदराबाद की श्रुति अंत्येष्टि नाम का स्टार्टअप चलाती हैं। ये स्टार्टअप अंतिम संस्कार से जुड़ी सुविधाएं उपलब्ध कराता है।
– श्रुति के मुताबिक उनका ये स्टार्टअप अंतिम संस्कार के लिए वन स्टॉप सर्विस है।
– उनकी टीम फ्यूनरल प्लानिंग भी करती है। यानी किसी के घर में मौत होती है तो बस एक फोन आने पर सारा सामान उपलब्ध करवाती है।
– यही नहीं ये स्टार्टअप कम कीमत पर अंतिम संस्कार से लेकर श्राद्ध तक सारी अनुष्ठान की जिम्मेदारी निभाता है।
ऐसे मिला था आइडिया
– दरअसल श्रुति को ये आइडिया अपने दादाजी के मौत के बाद आया था।
– श्रुति के मुताबिक दादा जी की मौत के वक्त के दिन सब कुछ अस्त-व्यस्त था। अंतिम संस्कार का सामान जुटाने के लिए सभी परेशान थे।
– ऐसे में उन्होंने ये स्टार्टअप खोलने का फैसला किया। शुरुआत में उन्होंने श्मशान घाट में जाकर सर्वे किया।
– इसके अलावा उन्होंने हर दिन होने वाली मौतों का आंकड़ा इक्ट्ठा किया। आज श्रुति के साथ चार और लोग जुड़े हैं।
मां ने दो महीने तक नहीं की बात
– श्रुति के मुताबिक जब लोगों को उनके स्टार्टअप के बारे में पता चला, तो उन्होंने मुझे ऐसा न करने की सलाह दी।
– यही नहीं नौकरी छोड़ने पर श्रुति की मां ने दो महीने तक उनसे बात नहीं की थी।
– इसके अलावा एसी वेन ऑपरेटर्स और फ्रीजर ब्रॉक्स कंपनी ने उन्हें सर्विस देने से मना कर दिया था।
– आज उनकी कंपनी की हेल्पलाइन 24 घंटे खुली रहती है, रात को वह खुद कॉल लेती है। इस पर श्रुति कहती हैं कि मौत समय देखकर नहीं आती है।

The post जिस काम पर मां ने बंद कर दी थी बात, उसी से बेटी ने खड़ा किया बिजनेस appeared first on MastiWale.

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s